Saturday, December 29, 2018

women and child development related important questions answer for any Teacher eligibility Test part3

women and child development and pedagogy related important questions answer for any Teacher eligibility Test TET Exam HTET, CTET,UPTET ,TET
women and child development related important questions answer for any Teacher eligibility Test


1.     चरित्र को निश्चित करने वाला महत्वपूर्ण कारक है Answer:- मनोरंजन संबंधी कारक

2.     समाजीकरण की प्रक्रिया को प्रभावित करते है Answer:- शिक्षा, समाज का स्वरूप, आर्थिक स्थिति

3.     सामान् बुद्धि बालक प्राय: किस अवस्था में बोलना सीख जाते हैं Answer:- 11 माह

4.     पोषाहार योजना सम्बन्धित है Answer:- मिड डे मील योजना से

5.     मिड डे मील योजना का प्रमुख संबंध है Answer:- केन्द्र से

6.     मिड डे मील योजना का प्रमुख लक्ष् है Answer:- बालक को पोषण प्रदान करना।

7.     सामान् ऊर्जा में पोषण का अर्थ माना जाता है Answer:- सन्तुलित भोजन से

8.     पोषण के प्रमुख पक्ष हैं Answer:- सन्तुलित भोजन, नियमित भोजन

9.     पोषण का विकृत रूप कहलाता है Answer:- कुपोषण

10.एक शिक्षक को पूर्ण ज्ञान होना चाहिए Answer:- पोषण का, पोषण के उपायों का, पोषक तत्वों का

11.पोषण का सम्बन् होता है Answer:- शारीरिक एवं मानसिक विकास

12.व्यापक अर्थ में पोषण का सम्बन् होता है Answer:- सन्तुलित भोजन से, स्वास्थ्यप्रद वातावरण एवं प्रकृति से

13.पोषण का अभाव अप्रत्यक्ष रूप से प्रभावित करता है Answer:- सामाजिक विकास को

14.पोषण के अभाव में बालक का व्यवहार हो जाता है Answer:- चिड़चिड़ा, अमर्यादित

15.सन्तुलित भोजन का स्वरूप निर्धारित होता है Answer:- आयु वर्ग के अनुसार

16.अनुपयुक् भोजन उत्पन् करता है Answer:- कुपोषण

17.सन्तुलित भोजन के लिए आवश्यक है Answer:- शुद्धता एवं नियमितता



18.पोषण में वृद्धि के उपाय होते है Answer:- भोजन से सम्बन्धित, पर्यावरण से सम्बन्धित

19.पोषण के उपायों में प्रभावशीलता के लिए आवश्यक है Answer:- शिक्षक सहयोग, अभिभावक सहयोग, विद्यार्थी सहयोग

20.निम्नलिखित में कौन-सी विशेषता पोषण से सम्बन्धित है Answer:- सन्तुलित भोजन

21.सन्तुलित भोजन के साथ पोषण के लिए आवश्यक है Answer:- स्वास्थ्यप्रद वातावरण, उचित व्यायाम, खेलकूद

22.वह उपाय जो पोषण पर्यावरणीय उपायों से सम्बन्धित है Answer:- पर्याप् निंद्रा, पर्याप् व्यायाम, स्वास्थ्यप्रद वातावरण

23.सन्तुलित भोजन की तालिका में मांसाहारी एवं शाकाहारी बालकों की स्थिति होती है Answer:- समान या असमान दोनों की नहीं।

24.1 से 3 वर्ष के बालक के लिए अन् होना चाहिए Answer:- 150 ग्राम

25.7 से 9 वर्ष के मांसाहारी एवं शाकाहारी बालकों के लिए अन् होना चाहिए Answer:- 250 ग्राम

26.7 से 9 वर्ष के बाल को किस स्वरूप के लिए 75 ग्राम हरी सब्जियों की आवश्यकता होती है Answer:- शाकाहारी एवं मांसाहारी दोंनों के लिए

27.सन्तुलित भोजन की तालिका में 1 से 9 वर्ष के लिए फलों की तालिका में वजन होता है Answer:- एक समान Bal Vikas Shiksha Shastra Notes

28.सन्तुलित भोजन में पोषक तत् होते है Answer:- प्रोटीन, विटामिन, वसा

29.प्रोटीन सामान् रूप से होती है Answer:- दो प्रकार की

30.मांस से प्राप् प्रोटीन को कहते है Answer:- जन्तु जन् प्रोटीन

31.कौन-सा स्रोत वनस्पतिजन् प्रोटीन का है Answer:- जौ

32.क्वाशियरकर नामक रोग उत्पन् होता है Answer:- प्रोटीन की कमी से

33.गन्ने के रस, अंगूर तथा खजूर से प्रमुख रूप से प्राप् होती है Answer:- कार्बोज

34.कार्बोज की अधिकता से कौन सा रोग उत्पन् होता है Answer:- मोटापा, बदहजमी

35.वसा के प्रमुख स्रोत हैं Answer:- वनस्पति तेल सूखे मेवे

36.शरीर को अधिक शक्ति प्रदान करता है Answer:- वसा

37.खनिज लवणों की कमी से रक् को नहीं मिल पाता है Answer:- हीमोग्लोबिन

38.घेंघा नामक रोग उत्पन् होता है Answer:- आयोडिन अथवा खनिज लवण की कमी से

39.विटामिन का आविष्कार हुआ था Answer:- उन्नीसवीं शताब्दी के आरम् में

40.विटामिन की कमी से बालकों में कौंन-सा रोग होता है Answer:- रतौंधी

41.विटामिन बी की कमी से होता है Answer:- बेरी-बेरी रोग

42.पेलाग्रा रोग किस विटामिन की कमी से होता है Answer:- बी

43.बी काम्पलेक् कहा जाता है Answer:- B1, B2, B2 को

44.विटामिनसी की कमी से कौन-सा रोग होता है Answer:- स्कर्वी

45.विटामिन सी का प्रमुख स्त्रोत है Answer:- आंवला

46.स्त्रियों में मृदुलास्थि रोग किस विटामिन की कमी से होता है Answer:- विटामिन डी

47.विटामिन डी की कमी से उत्पन् होता है Answer:- सूखा रोग

48.सूखा रोग पाया जाता है Answer:- बालिकाओं में

49.विटामिन की कमी से स्त्रियों में सम्भावना होती है Answer:- बांझपन, गर्भपात

50.विटामिन की कमी से उत्पन् होने वाला रोग है Answer:- नपुंसकता

51.विटामिन K का प्रमुख स्त्रोत है Answer:- केला, गोभी, अण्डा

52.विटामिनके की सर्वाधिक उपयोगिता होती है Answer:- गर्भिणी स्त्री के लिए, स्तनपान कराने वाली महिलाओं के लिए

53.रक् का थक्का जमने का रोग किस विटामिन के अभाव से उत्पन् होता है Answer:- विटामिनके

54.जल हमारे शरीर में कितने प्रतिशत है Answer:- 70 प्रतिशत

55.दूषित जल के पीने से उत्पन् रोग है Answer:- पीलिया, डायरिया

56.कार्य करने के लिए किस पदार्थ की आवश्यकता होती है Answer:- कार्बोज की, कार्बोहाइड्रेट की

57.अध्यापक को पोषक के ज्ञान की आवश्यकता होती है Answer:- बाल विकास के लिए, छात्रों के रोगों की जानकारी के लिए, अभिभावकों को पोषण का ज्ञान प्रदान कराने के लिए।

58.अभिभावकों को पोषण का ज्ञान कराने का सर्वोत्तम अवसर होता है Answer:- शिक्षकAnswer:-अभिभावक गोष्ठी Bal Vikas Shiksha Shastra Notes

59.पोषण की क्रिया को बाल विकास से सम्बद्ध करने के लिए आवश्यक है Answer:- निरन्तरता



60.शारीरिक विकास के लिए निरन्तरता के रूप में उपलब् होना चाहिए Answer:- सन्तुलित भोजन, उचित व्यायाम

61.अनिरन्तरता का विकास प्रक्रिया में प्रमुख कारक है Answer:- साधनों की अनिरन्तरता

62.एक बालक को सन्तुलित भोजन की उपलब्धता सप्ताह में दो दिन होती है। इस अवस्था में उस बालक का विकास होगा Answer:- अनियमित

63.साधनों की निरन्तरता में बालक विकास की गति को बनाती है Answer:- तीव्र

64.साधनों की अनिरन्तरता बाल विकास को बनाती है Answer:- मंद

65.एक बालक में विद्यालय के प्रथम दिन अध्यापक एवं विद्यालय के प्रति अरूचि उत्पन् हो जाती है तो उसका प्रारम्भिक अनुभव माना जायेगा Answer:- दोषपूर्ण

66.सर्वोत्तम विकास के लिए प्रारम्भिक अनुभवों का स्वरूप होना चाहिए Answer:- सुखद

67.एक बालक प्रथम अवसर पर एक विवा समारोह में जाता है वहां उसको अनेक प्रकार की विसंगतियां दृष्टिगोचर होती हैं तो माना जायेगा कि बालक का सामाजिक विकास होगा Answer:- मंद गति से

68.शिक्षण कार्य में बालक के प्रारम्भिक अनुभव को उत्तम बनाने का कार्य करने के लिए शिक्षक को प्रयोग करना चाहिए Answer:- शिक्षण सूत्रों का

69.परवर्ती अनुभवों का सम्बन् होता है Answer:- परिणाम से

70.परवर्ती अनुभव का प्रयोग किया जा सकता है Answer:- विकासकी परिस्थिति निर्माण में, विकास मार्ग को प्रशस् करने में

71.बाल केन्द्रित शिक्षा में प्राथमिक स्तर पर सामान्यत: किस विधि का प्रयोग उचित माना जायेगा Answer:- खेल विधि

 

 

72.बाल केन्द्रित शिक्षा का प्रमुख आधार है Answer:- बालक का केन्द्र मानना

73.बाल केन्द्रित शिक्षा में किसकी भूमिका गौण होती है Answer:- शिक्षक की

74.बाल केन्द्रित शिक्षा में प्रमुख भूमिका होती है Answer:- बालक की

75.बाल केन्द्रित शिक्षा का उद्देश् होता है Answer:- बालक की रूचियों का ध्यान, अन्तर्निहित प्रतिभाओं का विकास, गतिविधियों का विकास

76.बाल केन्द्रित शिक्षा में शिक्षा प्रदान की जाती है Answer:- कविताओं एवं कहानियों के रूप में

77.बाल केन्द्रित शिक्षा में प्रमुख स्थान दिया जाता है Answer:- गतिविधियों एवं प्रयोगों को

78.प्रगतिशील शिक्षा का आधार होता है Answer:- वैज्ञानिकता तकनीकी

79.शिक्षा में कम्प्यूटर का प्रयोग माना जाता है Answer:- प्रगतिशील शिक्षा

80.शिक्षा में प्राथमिक स्तर पर खेलों का प्रयोग माना जाता है Answer:- बाल केन्द्रित शिक्षा

81.बालकों का वैज्ञानिक दृष्टिकोण विकसित करना उद्देश् है Answer:- बाल केन्द्रित शिक्षा एवं प्रगतिशील शिक्षा का

82.शिक्षण प्रक्रिया में शिक्षण यन्त्रों का प्रयोग किसकी देन माना जाता है Answer:- प्रगतिशील शिक्षा की

83.समाज में अन्धविश्वास एवं रूढि़वादिता की समाप्ति के लिए आवश्यक है Answer:- प्रगतिशील शिक्षा

84.शिक्षण अधिगम प्रक्रिया को प्रभावी बनाना उद्देश् है Answer:- बाल केन्द्रित शिक्षा एवं प्रगतिशील शिक्षा का

85.शिक्षण अधिगम सामग्री में प्रोजेक्टर, दूरदर्शन एवं वीडियो टेप का प्रयोग करना प्रमुख रूप से सम्बन्धित है Answer:- प्रगतिशील शिक्षा का

86.बाल केन्द्रित शिक्षा में एवं प्रगतिशील शिक्षा में पाया जाता है Answer:- घनिष् सम्बन्

87.विशेष बालकों के लिए उनकी शैक्षिक आवश्यकताओं की पूर्ति की जाती हैं Answer:- बाल केन्द्रित शिक्षा में Bal Vikas Shiksha Shastra Notes

88.पाठ्यक्रम विविधता देन है Answer:- बाल केन्द्रित शिक्षा एवं प्रगतिशील शिक्षा की

89.छात्रों के सर्वांगीण विकास का उद्देश् निहित है Answer:- बाल केन्द्रित शिक्षा एवं प्रगतिशील शिक्षा में

90.एक विद्यालय में जाति के आधार पर बालकों को उनकी रूचि एवं योग्यता के आधार पर शिक्षा प्रदान की जाती है। इस शिक्षा को माना जायेगा Answer:- बाल केन्द्रित शिक्षा

91.बालकों को विद्यालय में किसी जाति या धर्म का भेदभाव किए बिना बालकों को उनकी रूचि एवं योग्यता के अनुसार शिक्षा प्रदान की जाती हैं। उनकी इस शिक्षा को माना जायेगा Answer:- आदर्शवादी शिक्षा

92.बाल केन्द्रित शिक्षा एवं प्रगतिशील शिक्षा है Answer:- एक-दूसरे की पूरक

93.बाल केन्द्रित शिक्षा एवं प्रगतिशील शिक्षा के विकास में महत्वपूर्ण योगदान है Answer:- मनोविज्ञान, विज्ञान, तकनीकी का

94.एक बालक की लम्बाई 3 फुट थी, दो वर्ष बाद उसकी लम्बाई 4 फुट हो गयी। बालक की लम्बाई में होने वाले परिवर्तन को माना जायेगा Answer:- वृद्धि एवं विकास

95.स्किनर के अनुसार वृद्धि एवं विकास का उदेश् है Answer:- प्रभावशाली व्यक्तित्

96.परिवर्तन की अवधारणा सम्बन्धित है Answer:- वृद्धि एवं विकास से

97.वृद्धि एवं विकास का ज्ञान एक शिक्षक के लिए क्यों आवश्यक हैं Answer:- सर्वांगीण विकास के लिए

98.क्रोगमैन के अनुसार वृद्धि का आशय है Answer:- जैविकीय संयमों के अनुसार वृद्धि

99.सोरेन्सन के अनुसार वृद्धि सूचक है Answer:- धनात्मकता का

100.                   सोरेन्सन के अनुसार वृद्धि मानी जाती है Answer:- परिवर्तन का आधार

101.                   गैसेल के अनुसार संकुचित दृष्टिकोण है Answer:- वृद्धि का

102.                   गैसेल के अनुसार व्यापक दृष्टिकोण है Answer:- विकास का

103.                   निम्नलिखित में कौन-सा तथ् गैसेल के विकास के अवलोकन रूपों से सम्बन्धित है Answer:- शरीर रचनात्मक, शरीर क्रिया विज्ञानात्मक, व्यवहारात्मक

104.                   विकास के अनुरूप व्यक्ति में नवीन योग्यताएं एवं विशेषताएं प्रकट होती है यह कथन है Answer:-श्रीमती हरलॉक का

105.                   सोरेन् के अनुसार विकास है Answer:- परिपक्वता एवं कार्य सुधार की प्रक्रिया

106.                   अभिवृद्धि वृद्धि की प्रक्रिया चलती है Answer:- गर्भावस्था से लेकर प्रौढ़ावस्था तक

107.                   अभिवृद्धि में होने वाले परिवर्तन होते है Answer:- शारीरिक

108.                   अभिवृद्धि में होने वाले परिवर्तन होते है Answer:- मात्रात्मक

109.                   अभिवृद्धि में होने वाले परिवर्तन होते है Answer:- रचनात्मक

110.                   अभिवृद्धि का क्रममानव को ले जाता है Answer:- वृद्धावस्था की ओर



111.                   अभिवृद्धि कहलाती है Answer:- कोशिकीय वृद्धि

112.                   अभिवृद्धि एक धारणा है Answer:- संकीर्ण

113.                   अभिवृद्धि का सम्बन् है Answer:- शारीरिक परिवर्तन से

114.                   अभिवृद्धि एक है Answer:- साधारण प्रक्रिया

115.                   अभिवृद्धि की प्रक्रिया सम्भव है Answer:- मापन

116.                   विकास की प्रक्रिया चलती है Answer:- गर्भावस्था से बाल्यावस्था तक

117.                   विकास की प्रक्रिया में होने वाले परिवर्तन माने जाते है Answer:- शारीरिक, मानसिक, सामाजिक

118.                   वृद्धिएवं विकास के सन्दर्भ में सत् है Answer:- अभिवृद्धि बाद में होती है विकास पहले होता है।

119.                   विकास की प्रक्रिया में होने वाले परिवर्तन माने जाते है Answer:- गुणात्मक

120.                   विकास की प्रक्रिया के परिणाम हो सकते हैं Answer:- रचनात्मक एवं विध्वंसात्मक

121.                   विकास का प्रमुख सम्बन् है Answer:- परिपक्वता से

122.                   विकास के क्षेत्र को माना जाता है Answer:- व्यापक प्रक्रिया से

123.                   विकास की प्रक्रिया को कठिनाई के आधार पर स्वीकार किया जाता है Answer:- जटिल प्रक्रिया के रूप में

124.                   विकास की प्रक्रिया में समावेश होता है Answer:- वृद्धि एवं परिपक्वता का

125.                   विकास की प्रक्रिया का सम्भव है Answer:- भविष्यवाणी करना

126.                   क्रो एण् क्रो के अनुसार संवेग है Answer:- मापात्मक अनुभव

127.                   संवेग पुनर्जागरण की प्रक्रिया है। यह कथन है Answer:- क्रो एण् क्रो का

128.                   संवेग शरीर की जटिल दशा है। यह कथन है Answer:- जेम् ड्रेकर का

129.                   संवेगों में मानव को अनुभूतियां होती है Answer:- सुखद दु:खद

130.                   संवेगों की उत्पत्ति होती है Answer:- परिस्थिति एवं मूलप्रवृत्ति के आधार पर

131.                   मैक्डूगल के अनुसार संवेग होते हैं Answer:- चौदह Bal Vikas Shiksha Shastra Notes

132.                   भारतीय विद्वानों के अनुसार संवेगों के प्रकार है Answer:- दो

133.                   भारतीय विद्वानों के अनुसार संवेग है Answer:- रागात्मक संवेग

134.                   सम्मान, भक्ति और श्रद्धा सम्बन्धित है Answer:- रागात्मक संवेग से

135.                   गर्व, अभिमान एवं अधिकार सम्बन्धित है Answer:- द्वेषात्मक संवेग से

136.                   क्रोध का सम्बन् किस मूल प्रवृत्ति से होता है Answer:- युयुत्सा



137.                   निवृत्ति मूल प्रवृत्ति के आधार पर कौन-सा संवेग उत्पन् होता है Answer:- घृणा

138.                   आत् अभिमान संवेग किस मूल प्रवृत्ति के कारण उत्पन् होता है Answer:- आत् गौरव

139.                   कामुकता की स्थिति के लिए कौन-सी प्रवृत्तिउत्तरदायी है Answer:- काम प्रवृत्ति

140.                   सन्तान की कामना नाम मूल प्रवृत्ति कौन-सा संवेग उत्पन् करती है Answer:- वात्सल्

141.                   दीनता मानव में किस संवेग को उत्पन् करती है Answer:- आत्महीनता

142.                   भोजन की तलाश किस संवेग से सम्बन्धित है Answer:- भूख से

143.                   रचना धर्मिता मूल प्रवृत्ति से कौन-सा संवेग विकसित होता है Answer:- कृतिभाव

144.                   मैक्डूगल के अनुसार हास् है Answer:- संवेग एवं मूल प्रवृत्ति

145.                   संग्रहणमूल प्रवृत्ति का सम्बन् है Answer:- अधिकार से

146.                   थकान के कारण बालक के व्यवहार में कौन-सा संवेग उदय हो सकता है Answer:- क्रोध

147.                   संवेगात्मक अस्थिरता पायी जाती है Answer:- कमजोर बालकों में, बीमार बालकों में

148.                   संवेगात्मक स्थिरता किन बालकों में देखी जातीहै Answer:- प्रतिभाशाली बालकों में

149.                   किस परिवार में बालक में संवेगात्मक स्थिरता उत्पन् होगी Answer:- सुरक्षित परिवार में, प्रतिभाशाली परिवारमें, सुखद परिवार में

150.                   माता-पिता का किस प्रकार का व्यवहार बालकों के लिए संवेगात्मक स्थिरता प्रदान करता है Answer:- सकारात्मक

1 comment:

Anurag Sharma said...

Recent reports show that unemployment is the main problem faced by the people of India. Many young people with high educational qualifications are jobless. That is why they are forced to do the low paid jobs. People who are employed in the private sector has no assurance. They can be asked to leave at any time. By considering all these factors it is better to get employed in the government sector jobs. Our jobe will assures till we reach the retirement age. Anyhow this site helping all the govt. job seeking candidates by providing them with the latest data on government jobs. I appreciate the honest effort taken by you. Visit the panseva website for any pan card related queries.