Monday, April 26, 2021

उत्तर-छायावाद युग 1936-1943 hindi uttar chhayavad yug hindi Postcolonial era

उत्तर-छायावाद युग 1936-1943

यह काल भारतीय राजनीति में भारी उथल-पुथल का काल रहा है। राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय, कई विचारधाराओं और आन्दोलनों का प्रभाव इस काल की कविता पर पड़ा। द्वितीय विश्वयुद्ध के भयावह परिणामों के प्रभाव से भी इस काल की कविता बहुत हद तक प्रभावित है। निष्कर्षत:राष्ट्रवादी, गांधीवादी, विप्लववादी, प्रगतिवादी, यथार्थवादी, हालावादी आदि विविध प्रकार की कवितायें इस काल में लिखी गई। इस काल के प्रमुख कवि हैं--

  • माखनलाल चतुर्वेदी
  • बालकृष्ण शर्मा नवीन
  • सुभद्रा कुमारी चौहान
  • रामधारी सिंह 'दिनकर'
  • हरिवंश राय 'बच्चन'
  • भगवतीचरण वर्मा
  • नरेन्द्र शर्मा
  • रामेश्वर शुक्ल 'अंचल'
  • शिवमंगल सिंह 'सुमन'
  • नागार्जुन
  • केदारनाथ अग्रवाल
  • त्रिलोचन
  • रांगेयराघव

No comments: