Tuesday, April 13, 2021

आईएएस परीक्षा के लिए एनसीईआरटी पुस्तकों से कैसे पढ़ाई करें

🚨आईएएस परीक्षा के लिए एनसीईआरटी पुस्तकों से कैसे पढ़ाई करें।
══════════════════════
एनसीईआरटी पुस्तकों से संबंधित प्राय: पूछे जाने वाले प्रश्न।
══════════════════════
क्या एनसीईआरटी पुस्तकों को पढ़ना आवश्यक है?
हां, और उसके ये कारण हैं:
१. एनसीईआरटी किताबें पूरी तरह विश्वसनीय हैं उनमें दी गई जानकारी को सच और प्रामाणिक के रूप में लिया जा सकता है।
२. उदाहरण के लिये, एनसीईआरटी पुस्तकों में प्राचीन, मध्ययुगीन और आधुनिक भारत और विश्व इतिहास के बारे में जानने वाली बुनियादी चीजों को शामिल किया गया है।
३. इन पुस्तकों की भाषा सरल है।
४. एनसीईआरटी पुस्तकों से कभी-कभी प्रश्न पूछ लिए जाते हैं।

कौन सा संस्करण बेहतर है? नया या पुराना।
दोनों संस्करण काफी अच्छे हैं। उदाहरण के लिये, आधुनिक भारतीय इतिहास के लिए पुरानी किताब जो बिपन चंद्रा द्वारा लिखित है वह बेहतर है क्योंकि इससे कई प्रश्न सीधे-सीधे उठाए जाते हैं।

एनसीईआरटी पुस्तकों को कैसे पढ़े (How Read)?
एनसीईआरटी की पुस्तकों को सही ढंग से पढ़ने के लिए पहले आपको प्रत्येक अध्याय के अंत में प्रश्नों को पढ़ना चाहिए | इसके बाद आपको प्रश्नों के उत्तर को ढूढ़ने का प्रयास करना चाहिए | इसके बाद आपको अध्याय पढ़ना चाहिए | इससे आप तुलनात्मक ज्ञान प्राप्त कर सकते है |

यदि एनसीईआरटी पाठ्यपुस्तकों को पढ़ा तो मैं कितने अंक हासिल कर सकता हूं?
उस पर एक अनुमान लगाना असंभव है लेकिन एनसीईआरटी पढ़ने से आप बुनियादी तौर पर मजबूत हो सकते हैं जो सीधे या परोक्ष रूप से आपको कई सवालों के जवाब देने और अंक प्राप्त करने में मदद मिलती हैं।

क्या स्पेक्ट्रम की आधुनिक इतिहास जैसी पुस्तकों को पढ़ने के लिए पर्याप्त नहीं है?
एनसीईआरटी की किताबें केवल शुरुआत करने के लिए ही उचित नहीं हैं बल्कि विभिन्न विषयों को संशोधित करने के लिए भी बहुत उपयोगी हैं, क्योंकि ये यथासंभव कम वाक्यों में ही विषय की व्यापक जानकारी प्रदान करती हैं। अपनी तैयारी के लिये आप अन्य पुस्तकों के साथ इनका उपयोग कर सकते हैं।

क्या एनसीईआरटी पुस्तकों के नोट्स (Notes) बनाना चाहिए?
प्रत्येक अभ्यर्थी की बौद्धिक क्षमता अलग- अलग होती है, आप चाहे तो इसके नोट्स बना सकते है, लेकिन आईएएस की तैयारी में आपको केवल इसी का अध्ययन नहीं करना है, इसके अतिरिक्त आपको अपने विषय पर भी फोकस करना रहता है | इसलिए पाठ्यक्रम की अधिकता और प्रश्नों के स्तर को देखते हुए आपको अधिक समय की आवश्यकता होगी | यदि आप इसके नोट्स बनाने में समय लगाएंगे तो आपको और अधिक समय की आवश्यकता होगी, इसलिए आपको जो भी टॉपिक नोट्स के लिए महत्वपूर्ण लगे तो आप उसको हाइलाइट कर सकते है और उसी के बगल में अपने हिसाब से लिख सकते है | इससे आपको दोबारा पढ़ने में वह सभी याद आ जायेगा |

अच्छी तैयारी के लिए एनसीईआरटी किताबें कितनी बार (How Many Times) पढ़नी चाहिए?
यह अभ्यर्थी की किसी विषय या घटना को समझने की क्षमता पर निर्भर करता है | आप दो बार इसका अध्ययन करने के बाद प्रत्येक 3 महीने में इसको रिवाइज कर सकते है | आपको दिए गए प्रश्नो को अवश्य हल करना चाहिए जिससे आपकी पकड़ पूरे अध्याय पर जल्दी हो जाएगी |

क्या यह एनआईसीईआर टेक्स्ट बुक कक्षा छः (6) से बारह (12) तक पढ़ना जरूरी है?
ध्यान रखें कि निचली कक्षा की पाठ्यपुस्तकों को पढ़ना बिल्कुल भी कठिन नहीं होता क्योंकि वे बहुत ही ज्यादा सरल होती हैं, और आप एक हफ्ते में उन्हें समाप्त कर सकते हैं।

नौकरी करते समय तैयारी करने वाले लोगों में एनसीईआरटी पुस्तकों को पढ़नें के लिये समय निकालना भी एक समस्या है। समय की बाधाओं वाले लोगों के लिए यह अधिक महत्वपूर्ण है कि वो समझें कि यह एकमात्र स्रोत है जो विषयों की संक्षिप्त और सरल तरीके से लगभग सभी बुनियादी जानकारी देता है और यह उन्हें पढ़ने के लिए ज्यादा समय भी नहीं लेता है।

No comments: