Friday, April 16, 2021

Granchand Ghosh Famous Scientist and inventor ज्ञानचंद्र घोष : प्रसिद्ध वैज्ञानिक, अनुसंधानकर्ता

✅ ज्ञानचंद्र घोष : प्रसिद्ध वैज्ञानिक, अनुसंधानकर्ता।

👉 (14 सितम्बर 1894 – 21 जनवरी 1959)

पुरुलिया, पश्चिम बंगाल में 14 सितम्बर 1894 में जन्में ज्ञानचंद्र घोष भारत के प्रसिद्ध वैज्ञानिकों में से एक थे।

▪️ शिक्षा :-
• वर्ष 1915 – एम.एस.सी. प्रेसिडेंसी कॉलेज, कलकत्ता विश्वविद्यालय (वर्तमान कोलकाता)
• वर्ष 1918 – डी.एस.सी. की उपाधि प्राप्त की।

▪️ विदेश में :-
• वर्ष 1919 में ज्ञान चंद्र घोष ने यूरोप में प्रोफ़ेसर डोनान (इंग्लैंड) और डॉ. नर्स्ट व डॉ. हेवर (जर्मनी) के अधीन कार्य किया।

▪️ कार्यक्षेत्र :-
• प्रोफेसर – साइंस कॉलेज (कलकत्ता विश्वविद्यालय)
• वर्ष 1921 – ढाका विश्वविद्यालय में प्रोफ़ेसर नियुक्त।
• वर्ष 1939 – डायरेक्टर, इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ साइंस, बेंगलोर।

▪️ प्रसिद्ध सिद्धांत :-
• ‘घोष का तनुता सिद्धांत’

▪️ उच्च पद पर :-
• वर्ष 1947-1950 – डायरेक्टर जनरल ऑफ इंडस्ट्रीज एंड सप्लाइज़, भारत सरकार।
• संस्थापक व डायरेक्टर, खड़गपुर तकनीकी संस्थान।
• उपकुलपति, कलकत्ता विश्वविद्यालय।  
• योजना आयोग के सदस्य, भारत सरकार।
• अनुसंधान कार्यक्षेत्र में इंडियन साइंस कांग्रेस और भारतीय केमिकल सोसायटी के अध्यक्ष नियुक्त।

▪️ ज्ञानचंद्र घोष के अनुसंधान विषय :-
• विशेष रूप से विद्युत रसायन, गति विज्ञान, उच्चताप गैस अभिक्रिया, उत्प्रेरण, आत्मऑक्सीकरण, प्रतिदीप्ति थे।

No comments: