Saturday, April 17, 2021

IPC act Indian panel codes act list of ipc acts


🔰🔰जानिए [IPC] भारत के धारा के  बारे में✔️ Part -1

🛑आईपीसी धारा 1 - संहिता का नाम और उसके प्रवर्तन का विस्तार

🛑आईपीसी धारा 2 - भारत के भीतर किए गए अपराधों का दण्ड।

🛑आईपीसी धारा 3 - भारत से परे किए गए किन्तु उसके भीतर विधि के अनुसार विचारणीय अपराधों का दण्ड।

🛑आईपीसी धारा 4 - राज्यक्षेत्रातीत / अपर देशीय अपराधों पर संहिता का विस्तार।

🛑आईपीसी धारा 5 - कुछ विधियों पर इस अधिनियम द्वारा प्रभाव न डाला जाना।

🛑आईपीसी धारा 6 - संहिता में की परिभाषाओं का अपवादों के अध्यधीन समझा जाना।

🛑आईपीसी धारा 7 - एक बार स्पष्टीकॄत वाक्यांश का अभिप्राय।

🛑आईपीसी धारा 8 - लिंग

🛑आईपीसी धारा 9 - वचन

🛑आईपीसी धारा 10 - पुरुष। स्त्री।

🛑आईपीसी धारा 11 - व्यक्ति



🛑आईपीसी धारा 12 - जनता / जन सामान्य

🛑आईपीसी धारा 13 - क्वीन की परिभाषा

🛑आईपीसी धारा 14 - सरकार का सेवक।

🛑आईपीसी धारा 15 - ब्रिटिश इण्डिया की परिभाषा

🛑आईपीसी धारा 16 - गवर्नमेंट आफ इण्डिया की परिभाषा

🛑आईपीसी धारा 17 - सरकार।

🛑आईपीसी धारा 18 - भारत

🛑आईपीसी धारा 19 - न्यायाधीश।

🛑आईपीसी धारा 20 - न्यायालय

🛑आईपीसी धारा 21 - लोक सेवक

🛑आईपीसी धारा 22 - चल सम्पत्ति।

🛑आईपीसी धारा 23 - सदोष अभिलाभ / हानि।

🛑आईपीसी धारा 24 - बेईमानी करना।

🛑आईपीसी धारा 25 - कपटपूर्वक

🛑आईपीसी धारा 26 - विश्वास करने का कारण।

🛑आईपीसी धारा 27 - पत्नी, लिपिक या सेवक के कब्जे में सम्पत्ति।

🛑आईपीसी धारा 28 - कूटकरण।

🛑आईपीसी धारा 29 - दस्तावेज।

🛑आईपीसी धारा 30 - मूल्यवान प्रतिभूति।

🛑आईपीसी धारा 31 - बिल

🛑आईपीसी धारा 32 - कार्यों को दर्शाने वाले शब्दों के अन्तर्गत अवैध लोप शामिल है।

🛑आईपीसी धारा 33 - कार्य

🛑आईपीसी धारा 34 - सामान्य आशय को अग्रसर करने में कई व्यक्तियों द्वारा किए गए कार्य

🛑आईपीसी धारा 35 - जबकि ऐसा कार्य इस कारण आपराधिक है कि वह आपराधिक ज्ञान या आशय से किया गया है

𝐉𝐨𝐢𝐧:- @SSC_to_UPSC_Prelims_Mains

🛑आईपीसी धारा 36 - अंशत: कार्य द्वारा और अंशत: लोप द्वारा कारित परिणाम।

🛑आईपीसी धारा 37 - कई कार्यों में से किसी एक कार्य को करके अपराध गठित करने में सहयोग करना।

🛑आईपीसी धारा 38 - आपराधिक कार्य में संपॄक्त व्यक्ति विभिन्न अपराधों के दोषी हो सकेंगे

🛑आईपीसी धारा 39 - स्वेच्छया।

🛑आईपीसी धारा 40 - अपराध।

🛑आईपीसी धारा 41 - विशेष विधि।

🛑आईपीसी धारा 42 - स्थानीय विधि

🛑आईपीसी धारा 43 - अवैध

🛑आईपीसी धारा 44 - क्षति

🛑आईपीसी धारा 45 - जीवन

🛑आईपीसी धारा 46 - मॄत्यु

🛑आईपीसी धारा 47 - जीवजन्तु

🛑आईपीसी धारा 48 - जलयान

🛑आईपीसी धारा 49 - वर्ष या मास

🛑आईपीसी धारा 50 - धारा

🛑आईपीसी धारा 51 - शपथ।

🛑आईपीसी धारा 52 - सद्भावपूर्वक।

🛑आईपीसी धारा 53 - दण्ड।

🛑आईपीसी धारा 54 - मॄत्यु दण्डादेश का रूपांतरण।

🛑आईपीसी धारा 55 - आजीवन कारावास के दण्डादेश का लघुकरण

🛑आईपीसी धारा 56 - य़ूरोपियों तथा अमरीकियों को दण्ड दासता की सजा।

🛑आईपीसी धारा 57 - दण्डावधियों की भिन्नें

🛑आईपीसी धारा 58 - निर्वासन से दण्डादिष्ट अपराधियों के साथ कैसा व्यवहार किया जाए जब तक वे निर्वासित न कर दिए जाएं

🛑आईपीसी धारा 59 - कारावास के बदले निर्वासनट

🛑आईपीसी धारा 60 - दण्डादिष्ट कारावास के कतिपय मामलों में सम्पूर्ण कारावास या उसका कोई भाग कठिन या सादा हो सकेगा।

🛑आईपीसी धारा 61 - सम्पत्ति के समपहरण का दण्डादेश।

🛑आईपीसी धारा 62 - मॄत्यु, निर्वासन या कारावास से दण्डनीय अपराधियों की बाबत सम्पत्ति का समपहरण ।

🛑आईपीसी धारा 63 - आर्थिक दण्ड/जुर्माने की रकम।

𝐉𝐨𝐢𝐧:- @SSC_to_UPSC_Prelims_Mains

🛑आईपीसी धारा 64 - जुर्माना न देने पर कारावास का दण्डादेश

🛑आईपीसी धारा 65 - जब कि कारावास और जुर्माना दोनों आदिष्ट किए जा सकते हैं, तब जुर्माना न देने पर कारावास की अवधि

🛑आईपीसी धारा 66 - जुर्माना न देने पर किस भांति का कारावास दिया जाए।

🛑आईपीसी धारा 67 - आर्थिक दण्ड न चुकाने पर कारावास, जबकि अपराध केवल आर्थिक दण्ड से दण्डनीय हो।

🛑आईपीसी धारा 68 - आर्थिक दण्ड के भुगतान पर कारावास का समाप्त हो जाना।   

    

🔰🔰जानिए [IPC] भारत के धारा के  बारे में✔️ Part -2

🛑आईपीसी धारा 69 - जुर्माने के आनुपातिक भाग के दे दिए जाने की दशा में कारावास का पर्यवसान

🛑आईपीसी धारा 70 - जुर्माने का छह वर्ष के भीतर या कारावास के दौरान वसूल किया जाना। मॄत्यु सम्पत्ति को दायित्व से उन्मुक्त नहीं करती।

🛑आईपीसी धारा 71 - कई अपराधों से मिलकर बने अपराध के लिए दण्ड की अवधि।

𝐉𝐨𝐢𝐧:- @SSC_to_UPSC_Prelims_Mains

🛑आईपीसी धारा 72 - कई अपराधों में से एक के दोषी व्यक्ति के लिए दण्ड जबकि निर्णय में यह कथित है कि यह संदेह है कि वह किस अपराध का दोषी है

🛑आईपीसी धारा 73 - एकांत परिरोध

🛑आईपीसी धारा 74 - एकांत परिरोध की अवधि

🛑आईपीसी धारा 75 - पूर्व दोषसिद्धि के पश्चात् अध्याय 12 या अध्याय 17 के अधीन कतिपय अपराधों के लिए वर्धित दण्ड

🛑आईपीसी धारा 76 - विधि द्वारा आबद्ध या तथ्य की भूल के कारण अपने आप के विधि द्वारा आबद्ध होने का विश्वास करने वाले व्यक्ति द्वारा किया गया कार्य।

🛑आईपीसी धारा 77 - न्यायिकतः कार्य करते हुए न्यायाधीश का कार्य

🛑आईपीसी धारा 78 - न्यायालय के निर्णय या आदेश के अनुसरण में किया गया कार्य

🛑आईपीसी धारा 79 - विधि द्वारा न्यायानुमत या तथ्य की भूल से अपने को विधि द्वारा न्यायानुमत होने का विश्वास करने वाले व्यक्ति द्वारा किया गया कार्य

🛑आईपीसी धारा 80 - विधिपूर्ण कार्य करने में दुर्घटना।

🛑आईपीसी धारा 81 - आपराधिक आशय के बिना और अन्य क्षति के निवारण के लिए किया गया कार्य जिससे क्षति कारित होना संभाव्य है।

🛑आईपीसी धारा 82 - सात वर्ष से कम आयु के शिशु का कार्य।

🛑आईपीसी धारा 83 - सात वर्ष से ऊपर किंतु बारह वर्ष से कम आयु के अपरिपक्व समझ के शिशु का कार्य

🛑आईपीसी धारा 84 - विकॄतचित व्यक्ति का कार्य।

🛑आईपीसी धारा 85 - ऐसे व्यक्ति का कार्य जो अपनी इच्छा के विरुद्ध मत्तता में होने के कारण निर्णय पर पहुंचने में असमर्थ है

🛑आईपीसी धारा 86 - किसी व्यक्ति द्वारा, जो मत्तता में है, किया गया अपराध जिसमें विशेष आशय या ज्ञान का होना अपेक्षित है

🛑आईपीसी धारा 87 - सम्मति से किया गया कार्य जिससे मॄत्यु या घोर उपहति कारित करने का आशय न हो और न उसकी संभाव्यता का ज्ञान हो

🛑आईपीसी धारा 88 - किसी व्यक्ति के फायदे के लिए सम्मति से सद््भावपूर्वक किया गया कार्य जिससे मॄत्यु कारित करने का आशय नहीं है

🛑आईपीसी धारा 89 - संरक्षक द्वारा या उसकी सम्मति से शिशु या उन्मत्त व्यक्ति के फायदे के लिए सद््भावपूर्वक किया गया कार्य

🛑आईपीसी धारा 90 - सम्मति, जिसके संबंध में यह ज्ञात हो कि वह भय या भ्रम के अधीन दी गई है

𝐉𝐨𝐢𝐧:- @SSC_to_UPSC_Prelims_Mains

🛑आईपीसी धारा 91 - ऐसे अपवादित कार्य जो कारित क्षति के बिना भी स्वतः अपराध है।

🛑आईपीसी धारा 92 - सहमति के बिना किसी व्यक्ति के फायदे के लिए सद्भावपूर्वक किया गया कार्य।

🛑आईपीसी धारा 93 - सद्भावपूर्वक दी गई संसूचना

🛑आईपीसी धारा 94 - वह कार्य जिसको करने के लिए कोई व्यक्ति धमकियों द्वारा विवश किया गया है

🛑आईपीसी धारा 95 - तुच्छ अपहानि कारित करने वाला कार्य

🛑आईपीसी धारा 96 - प्राइवेट प्रतिरक्षा में की गई बातें

🛑आईपीसी धारा 97 - शरीर तथा संपत्ति की निजी प्रतिरक्षा का अधिकार।

🛑आईपीसी धारा 98 - ऐसे व्यक्ति के कार्य के विरुद्ध प्राइवेट प्रतिरक्षा का अधिकार जो विकॄतचित्त आदि हो

🛑आईपीसी धारा 99 - कार्य, जिनके विरुद्ध प्राइवेट प्रतिरक्षा का कोई अधिकार नहीं है

🛑आईपीसी धारा 100 - किसी की मॄत्यु कारित करने पर शरीर की निजी प्रतिरक्षा का अधिकार कब लागू होता है।

🛑आईपीसी धारा 101 - मॄत्यु से भिन्न कोई क्षति कारित करने के अधिकार का विस्तार कब होता है।

🛑आईपीसी धारा 102 - शरीर की निजी प्रतिरक्षा के अधिकार का प्रारंभ और बना रहना।

🛑आईपीसी धारा 103 - कब संपत्ति की प्राइवेट प्रतिरक्षा के अधिकार का विस्तार मॄत्यु कारित करने तक का होता है

🛑आईपीसी धारा 104 - मॄत्यु से भिन्न कोई क्षति कारित करने तक के अधिकार का विस्तार कब होता है।

🛑आईपीसी धारा 105 - सम्पत्ति की प्राइवेट प्रतिरक्षा के अधिकार का प्रारंभ और बना रहना

🛑आईपीसी धारा 106 - घातक हमले के विरुद्ध प्राइवेट प्रतिरक्षा का अधिकार जब कि निर्दोष व्यक्ति को अपहानि होने की जोखिम है

🛑आईपीसी धारा 107 - किसी बात का दुष्प्रेरण

🛑आईपीसी धारा 108 - दुष्प्रेरक।

🛑आईपीसी धारा 108क - भारत से बाहर के अपराधों का भारत में दुष्प्रेरण

🛑आईपीसी धारा 109 - अपराध के लिए उकसाने के लिए दण्ड, यदि दुष्प्रेरित कार्य उसके परिणामस्वरूप किया जाए, और जहां कि उसके दण्ड के लिए कोई स्पष्ट प्रावधान नहीं है।

   

🔰🔰जानिए [IPC] भारत के धारा के  बारे में✔️ Part -3

🛑आईपीसी धारा 110 - दुष्रेरण का दण्ड, यदि दुष्प्रेरित व्यक्ति दुष्प्रेरक के आशय से भिन्न आशय से कार्य करता है।

🛑आईपीसी धारा 111 - दुष्प्रेरक का दायित्व जब एक कार्य का दुष्प्रेरण किया गया है और उससे भिन्न कार्य किया गया है।

🛑आईपीसी धारा 112 - दुष्प्रेरक कब दुष्प्रेरित कार्य के लिए और किए गए कार्य के लिए आकलित दण्ड से दण्डनीय है

🛑आईपीसी धारा 113 - दुष्प्रेरित कार्य से कारित उस प्रभाव के लिए दुष्प्रेरक का दायित्व जो दुष्प्रेरक द्वारा आशयित से भिन्न हो।

🛑आईपीसी धारा 114 - अपराध किए जाते समय दुष्प्रेरक की उपस्थिति।

🛑आईपीसी धारा 115 - मॄत्युदण्ड या आजीवन कारावास से दण्डनीय अपराध का दुष्प्रेरण - यदि दुष्प्रेरण के परिणामस्वरूप अपराध नहीं किया जाता।

🛑आईपीसी धारा 116 - कारावास से दण्डनीय अपराध का दुष्प्रेरण - यदि अपराध न किया जाए।

🛑आईपीसी धारा 117 - सामान्य जन या दस से अधिक व्यक्तियों द्वारा अपराध किए जाने का दुष्प्रेरण।

🛑आईपीसी धारा 118 - मॄत्यु या आजीवन कारावास से दंडनीय अपराध करने की परिकल्पना को छिपाना

🛑आईपीसी धारा 119 - किसी ऐसे अपराध के किए जाने की परिकल्पना का लोक सेवक द्वारा छिपाया जाना, जिसका निवारण करना उसका कर्तव्य है

🛑आईपीसी धारा 120 - कारावास से दण्डनीय अपराध करने की परिकल्पना को छिपाना।

🛑आईपीसी धारा 120क - आपराधिक षड्यंत्र की परिभाषा

🛑आईपीसी धारा 120ख - आपराधिक षड्यंत्र का दंड

🛑आईपीसी धारा 121 - भारत सरकार के विरुद्ध युद्ध करना या युद्ध करने का प्रयत्न करना या युद्ध करने का दुष्प्रेरण करना।

🛑आईपीसी धारा 121क - धारा 121 द्वारा दंडनीय अपराधों को करने का षड््यंत्र

🛑आईपीसी धारा 122 - भारत सरकार के विरुद्ध युद्ध करने के आशय से आयुध आदि संग्रहित करना।

🛑आईपीसी धारा 123 - युद्ध करने की परिकल्पना को सुगम बनाने के आशय से छिपाना।

🛑आईपीसी धारा 124 - किसी विधिपूर्ण शक्ति का प्रयोग करने के लिए विवश करने या उसका प्रयोग अवरोधित करने के आशय से राष्ट्रपति, राज्यपाल आदि पर हमला करना

🛑आईपीसी धारा 124क - राजद्रोह

🛑आईपीसी धारा 125 - भारत सरकार से मैत्री संबंध रखने वाली किसी एशियाई शक्ति के विरुद्ध युद्ध करना

🛑आईपीसी धारा 126 - भारत सरकार के साथ शांति का संबंध रखने वाली शक्ति के राज्यक्षेत्र में लूटपाट करना।

🛑आईपीसी धारा 127 - धारा 125 और 126 में वर्णित युद्ध या लूटपाट द्वारा ली गई सम्पत्ति प्राप्त करना।

🛑आईपीसी धारा 128 - लोक सेवक का स्वेच्छया राजकैदी या युद्धकैदी को निकल भागने देना।

🛑आईपीसी धारा 129 - लोक सेवक का उपेक्षा से किसी कैदी का निकल भागना सहन करना।

🛑आईपीसी धारा 130 - ऐसे कैदी के निकल भागने में सहायता देना, उसे छुड़ाना या संश्रय देना

🛑आईपीसी धारा 131 - विद्रोह का दुष्प्रेरण या किसी सैनिक, नौसेनिक या वायुसैनिक को कर्तव्य से विचलित करने का प्रयत्न करना

🛑आईपीसी धारा 132 - विद्रोह का दुष्प्रेरण यदि उसके परिणामस्वरूप विद्रोह हो जाए।

🛑आईपीसी धारा 133 - सैनिक, नौसैनिक या वायुसैनिक द्वारा अपने वरिष्ठ अधिकारी जब कि वह अधिकारी अपने पद-निष्पादन में हो, पर हमले का दुष्प्रेरण।

🛑आईपीसी धारा 134 - हमले का दुष्प्रेरण जिसके परिणामस्वरूप हमला किया जाए।



🔰🔰जानिए [IPC] भारत के धारा के  बारे में✔️ Part -4

🛑आईपीसी धारा 135 - सैनिक, नौसैनिक या वायुसैनिक द्वारा परित्याग का दुष्प्रेरण।

🛑आईपीसी धारा 136 - अभित्याजक को संश्रय देना

🛑आईपीसी धारा 137 - मास्टर की उपेक्षा से किसी वाणिज्यिक जलयान पर छुपा हुआ अभित्याजक

🛑आईपीसी धारा 138 - सैनिक, नौसैनिक या वायुसैनिक द्वारा अनधीनता के कार्य का दुष्प्रेरण।

𝐉𝐨𝐢𝐧:- @SSC_to_UPSC_Prelims_Mains

🛑आईपीसी धारा 138क - पूर्वोक्त धाराओं का भारतीय सामुद्रिक सेवा को लागू होना

🛑आईपीसी धारा 139 - कुछ अधिनियमों के अध्यधीन व्यक्ति।

🛑आईपीसी धारा 140 - सैनिक, नौसैनिक या वायुसैनिक द्वारा उपयोग में लाई जाने वाली पोशाक पहनना या प्रतीक चिह्न धारण करना।

🛑आईपीसी धारा 141 - विधिविरुद्ध जनसमूह।

🛑आईपीसी धारा 142 - विधिविरुद्ध जनसमूह का सदस्य होना।

🛑आईपीसी धारा 143 - गैरकानूनी जनसमूह का सदस्य होने के नाते दंड

🛑आईपीसी धारा 144 - घातक आयुध से सज्जित होकर विधिविरुद्ध जनसमूह में सम्मिलित होना।

🛑आईपीसी धारा 145 - किसी विधिविरुद्ध जनसमूह जिसे बिखर जाने का समादेश दिया गया है, में जानबूझकर शामिल होना या बने रहना

🛑आईपीसी धारा 146 - उपद्रव करना।

🛑आईपीसी धारा 147 - बल्वा करने के लिए दंड

🛑आईपीसी धारा 148 - घातक आयुध से सज्जित होकर उपद्रव करना।

🛑आईपीसी धारा 149 - विधिविरुद्ध जनसमूह का हर सदस्य, समान लक्ष्य का अभियोजन करने में किए गए अपराध का दोषी।

𝐉𝐨𝐢𝐧:- @SSC_to_UPSC_Prelims_Mains

🛑आईपीसी धारा 150 - विधिविरुद्ध जनसमूह में सम्मिलित करने के लिए व्यक्तियों का भाड़े पर लेना या भाड़े पर लेने के लिए बढ़ावा देना।

🛑आईपीसी धारा 151 - पांच या अधिक व्यक्तियों के जनसमूह जिसे बिखर जाने का समादेश दिए जाने के पश्चात् जानबूझकर शामिल होना या बने रहना

🛑आईपीसी धारा 152 - लोक सेवक के उपद्रव / दंगे आदि को दबाने के प्रयास में हमला करना या बाधा डालना।

🛑आईपीसी धारा 153 - उपद्रव कराने के आशय से बेहूदगी से प्रकोपित करना 

🛑आईपीसी धारा 153क - धर्म, मूलवंश, भाषा, जन्म-स्थान, निवास-स्थान, इत्यादि के आधारों पर विभिन्न समूहों के बीच शत्रुता का संप्रवर्तन और सौहार्द्र बने रहने पर प्रतिकूल प्रभाव डालने वाले कार्य करना।

    

No comments: