Monday, April 12, 2021

One word substitution muhavara hindi loktiya hindi grammar Part 3

One word 03


 अनेक शब्दों के लिए एक शब्द (One Word) भाग 03
 
 
 जिसके पाणि (हाथ) में चक्र है- (चक्रपाणि (विष्णु))
 जिसके पाणि में वज्र है- ( वज्रपाणि (इन्द्र) )
 जिसके पाणि में वीणा है- ( वीणापाणि (सरस्वती) )
 जिसके आने की तिथि (मालूम) न हो- (अतिथि)
 जिसके शेखर पर चन्द्र हो- ( चन्द्रशेखर (शिव) )
 जिसके पार देखा जा सके- (पारदर्शक)
 जिसके पार देखा न जा सके- (आपारदर्शक)
 जिसके भीतर का तापमान समान स्थिति में रहे- (वातानुकूलित)
 जिसके हृदय में ममता नहीं है- (निर्मम)
 जिसके हृदय में दया नहीं है- (निर्दय)
 जिसके कुल का पता ज्ञात न हो- (अज्ञातकुल)
 जिसके चूड़ा पर चन्द्र रहे- (चन्द्रचूड़)
 जिसके हाथ में चक्र हो- (चक्रपाणि)
 जिसके विषय में उल्लेख करना आवश्यक हो- (उल्लेखनीय)
 जिसके पास करोड़ों रूपये हों- (करोड़पति)
 जिसके लम्बे-लम्बे बिखरे बाल हों- (झबरा)
 जिसके हृदय में ममता न हो- (निर्मम)
 जिसके हृदय में दया न हो- (निर्दय)
 जिसके बिना कार्य न चल सके- (अपरिहार्य)
 जिसके विषय में विवाद हो- (विवादास्पद)
 जिसके नख सूप के समान हो- (शूर्पणखा)
 जिसके हाथ में शूल हो- (शूलपाणि) (शिव)
 जिसके पास शक्ति न हो- (निर्बल)
 जिसके हृदय में पाप न हो- (निष्पाप)
 जिसके बारे में मतभेद न हो- (निर्विवाद)
 जिसके पास कोई रोजगार न हो- (बेरोजगार)
 जिसके लोचन (आँखें) सुंदर हों- (सुलोचन)
 जिसके भीतर की हवा का तापमान सम स्थिति में रखा गया हो- (वातानुकूलित)
 जिसके चार पद है- (चतुष्पद)
 जिसके आने की तिथि न हो- (अतिथि)
 जिसके दो पद (पैर) हैं- (द्विपद)
 जिसके पास कुछ भी न हो- (अकिंचन)
 जिसके पास कुछ भी न हो- (अकिंचन)
 जिसके नीचे रेखा हो- (रेखांकित)
 जिसके मन में कोई कपट न हो- (निष्कपट)
 जिसके पास लाख रूपये की सम्पत्ति हो- (लखपति)
 जिसका अंत न हो- (अनन्त)
 जिसका कारण पृथ्वी है या जो पृथ्वी से सम्बद्ध है- (पार्थिव)
 जिसका निवारण नहीं किया जा सके- (अनिवार्य)
 जिसका इलाज न हो सके- (असाध्य)
 जिसका विश्वास न किया जा सके- (अविश्वसनीय)
 जिसका मूल्य न आँका जा सके- (अमूल्य)
 जिसका वर्णन न किया जा सके- (वर्णनातीत)
 जिसका संबंध पश्चिम से हो- (पाश्चात्य)
 जिसका जन्म न हो - (अजन्मा)
 जिसका कोई आधार न हो- (निराधार)
 जिसका पति जीवित हो- (सधवा)
 जिसका कोई शत्रु ही न जन्मा हो- (अजातशत्रु)
 जिसका जन्म अनु (पीछे) हुआ हो- (अनुज)
 जिसका ज्ञान इन्द्रियों से परे हो- (अगोचर)
 जिसका कोई दूसरा उपाय न हो- (अनन्योपाय)
 जिसका आदर न किया गया हो- (अनादृत)
 जिसका वचन द्वारा वर्णन न किया जा सके- (अनिवर्चनीय)
 जिसका मन उदार हो- (उदारमना)
 जिसका मन महान हो- (महामना
 जिसका हृदय उदार हो- (उदारहृदय)
 जिसका चित्त एक जगह स्थिर हो- (एकाग्रचित)
 जिसका उच्चारण ओष्ठ (ओंठ) से हो- (ओष्ठ्य)
 जिसका खण्डन न हो सके- (अकाट्य)
 जिसका कोई शुल्क न लिया जाय- (निःशुल्क)
 जिसका कोई भय न हो- (निर्भय)
 जिसका दमन कठिन हो- (दुर्दम्य/दुर्दात)
 जिसका कोई आधार न हो- (निराधार)
 जिसका उदर लम्बा (बड़ा) हो- (लम्बोदर)
 जिसका मूल नहीं है- (निर्मूल)
 जिसका हृदय भग्न हो- (भग्नहृदय)
 जिसकी कोई उपमा न हो- (अनुपम)
 जिसको टाला न जा सके- (अनिवार्य, अटल)
 जिसकी पत्नी मर गई हो- (विधुर)
 जिसकी सब जगह बदनामी- (कुख्यात)
 जिसकी बहुत अधिक चर्चा हो- (बहुचर्चित)
 जिसकी अपेक्षा (उम्मीद) हो- (अपेक्षित)
 जिसकी बुद्धि कुश के अग्र (नोक) की तरह तेज हो- (कुशाग्रबुद्धि)
 जिसकी कल्पनान की जा सके- (अकल्पनीय)
 जिसकी चिन्ता नहीं हो सकती- (अचिन्तनीय)
 जिसकी पत्नी साथ में न हो- (विपत्नीक)
 जिसने बहुत कुछ देखा हो- (बहुदर्शी)
 जिसमे दया हो- (दयालु)
 जिसमे धैर्य न हो- (अधीर)
 जिसमें सामर्थ्य नहीं है- (असमर्थ)
 जिसमें तेज नहीं है- (निस्तेज)
 जिसमें सात रंग हो- (सतरंगा)
 जिस पर विचार न किया गया हो- (अविचारित)
 जिस पर आक्रमण न किया गया हो- (अनाक्रांत)
 जिसे अधिकार दिया गया हो- (अधिकृत)
 जिस स्त्री का धव (पति) मर गया है- (विधवा)
 जिस पर विश्वास न किया जा सके- (अविश्वनीय)
 जिस पर लम्बी-लम्बी धारियाँ हों- (धारीदार)
 जिस पर किसी प्रकार का अंकुश (नियंत्रण) न हो- (निरंकुश)
 जिस पर विश्वास न किया जा सके- (विश्वासघाती)
 जिस पर विश्वास किया गया है- (विश्वस्त)
 जिस स्त्री का पति जीवित हो- (सधवा)
 
 जिसे जीता न जा सके- (अजेय)
 जिसे देखकर डर (भय) लगे- (डरावना, भयानक)
 जिसे क्षमा न किया जा सके- (अक्षम्य)
 जिसे कोई जीत न सके- (अजेय)
 जिस भूमि पर कुछ न उग सके- (ऊसर)
 जिसे ईश्वर या वेद में विश्वास न हो- (नास्तिक)
 जिसे या जिसका मूल नहीं है- (निर्मूल)
 जिसे क्रय किया गया हो- (क्रीत)
 जिसे देख या सुनकर रोम (रोंगटे) खड़े हो जायें- (रोमांचकारी)
 जिसे सताया गया हो- (दलित)
 जहाँ गमन (जाया) न किया जा सके- (अगम्य)
 जल में जन्म लेने वाला- (जलज)
 जैसा चाहिए वैसा- (यथोचित)
 यथार्थ (सच) कहनेवाला-( यथार्थवादी)
 जानने की इच्छा रखने वाला- (जिज्ञासु)
 जल में जनमनेवाला- (जलज)

No comments: