Monday, April 12, 2021

One word substitution muhavara hindi muhavare hindi vyakaran Part 5

One word 05

 अनेक शब्दों के लिए एक शब्द (One Word Substitution)
 
 
 ( फ )
 फलनेवाला या फल (ठीक परिणाम) देनेवाला- (फलदायी)
 फल-फूल खाने वाला- (शाकाहारी)
 फेन से भरा हुआ- (फेनिल)
 फेंककर चलाया जाने वाला हथियार- (अस्त्र)
 ( ब )
 बुरा (दुर्) आग्रह- (दुराग्रह)
 बुरे आचरण वाला- (दुराचारी)
 बुरे चरित्र वाला- (दुश्चरित्र)
 बच्चों के लिए काम की वस्तु- (बालोपयोगी)
 बिलकुल बरबाद हो गया हो- (ध्वस्त)
 बहुत तेज चलने वाला- (द्रुतगामी)
 बिना वेतन का- (अवैतनिक)
 बीता हुआ- (अतीत)
 बेचनेवाला- (विक्रेता)
 बिना आयास (परिश्रम) के- (अनायास)
 बिना पलक गिराये- (एकटक)
 बिना अंकुश का- (निरंकुश)
 बिना पलक गिराये हुए- (अनिमेष)
 बेलों आदि से घिरा हुआ सुरम्य स्थान- (कुंज)
 बहुत गप्पे हाँकनेवाला-(गपोड़िया)
 बहुत सी घटनाओं का सिलसिला- (घटनावली, घटनाक्रम)
 बरसात के चार महीने- (चतुर्मास)
 बहुत डरनेवाला- (डरपोक)
 बहुत चंचल, दुष्ट और अपनी प्रशंसा करने वाला नायक- (धीरोद्धत)
 बिना पलक गिराये हुए- (निर्निमेष)
 बच्चा जनने वाली स्त्री- (प्रसूत)
 बहुत-सी भाषाओं को बोलने वाला- (बहुभाषाभाषी)
 बहुत-सी भाषाओं को जानने वाला- (बहुभाषाविद)
 बहुत से रूप धारण करने वाला- (बहुरूपिया)
 बहुत बोलने वाला- (बहुभाषी)
 बच्चों को सुलाने के लिए गाया जाने वाला गीत- (लोरी)
 बाल्यावस्था और युवावस्था के बीच का समय- (वयः सन्धि)
 बिक्री करनेवाला- (विक्रेता)
 बोलने की इच्छा- (विवाक्षा)
 बिजली की तरह तीव्र वेग वाला- (विघुतवेग)
 बिना माता-पिता का- (अनाथ)
 बाँचनेवाला- (वाचक)
 बोलनेवाला- (वक्ता)
 बुरे मार्ग पर चलनेवाला- (कुमार्गगामी)
 बिना तार की वीणा- (कोलंबक)
 बिना विचार किए विश्वास करना- (अंधविश्वास)
 बार-बार बोलना- (अनुलाप)
 बेरों के जंगल में जनमा- (बादरायण)
 बच्चे को पहले-पहल अन्न खिलाना- (अन्नप्राशन)
 बिजली की तरह कान्ति (चमक) वाला-(विधुत्प्रभ)
 ( भ )
 भली प्रकार से सीखा हुआ- (अभ्यस्त)
 भलाई चाहने वाला- (हितैषी)
 भविष्य में होनेवाला- (भावी)
 भविष्य में होनेवाला- (भावी)
 भेड़ का बच्चा- (मेमना)
 भूत-वर्तमान-भविष्य को देखने (जानने) वाले- (त्रिकालदर्शी)
 मांस खाने वाला - (मांसाहारी)
 महल का भीतरी भाग- (अन्तःपुर)
 मांस आहार या भोजन करनेवाला- (मांसाहारी/मांसभोजी)
 मोहजनित प्रेम- (आसक्ति)
 माँ-बहन संबंधी गाली- आक्षारणा
 मंत्र-द्वारा देवता को बुलाना- (आवाहन)
 मध्य रात्रि का समय- (निशीथ)
 मोक्ष या मुक्ति की इच्छा रखनेवाला- (मुमुक्षु)
 मरने के करीब- (मुमूर्षु/मरणासन्न)
 महान व्यक्तियों की मृत्यु- (निधन)
 मनोहर गन्ध- (परिमल)
 मुख को सुंगधित करनेवाला पान- (मुखवासन)
 मछली रखने का पात्र- (कुवेणी)
 मछली मारने का काँटा- (वडिश)
 मानसिक भाव छिपाना- (अवहित्था)
 मर्यादा का उल्लंघन करके किया हुआ- (अतिकृत)
 मिठाई बनाने और बेचने वाला- (हलवाई)
 
 ( य )
 यात्रा करनेवाला- (यात्री)
 यशवाला- (यशस्वी)
 युद्ध में स्थिर रहता है- (युधिष्ठिर)
 याचना करनेवाला- (याचक)
 युग का निर्माण करनेवाला- (युगनिर्माता)
 यात्रियों के लिए धर्मार्थ बना हुआ घर- (धर्मशाला)
 यश वाला- (यशस्वी)
 युद्ध का जहाज- (युद्धपोत)
 यथार्थ (सच) कहनेवाला- (यथार्थवादी)
 
 राज्य के अधिपति द्वारा जारी किया गया वो आधिकारिक आदेश जो किसी विशेष समय तक ही लागू हो- (अध्यादेश)
 रोगी की चिकित्सा करने वाला- (चिकित्सक)
 रात और सन्ध्या के बीच की वेला- (गोधूलि)
 रात और सन्ध्या के बीच का समय- (गोधूलि)
 रात को दिखाई न देनेवाला रोग- (रतौंधी)
 लौटकर आया हुआ- (प्रत्यागत)
 लोक का- (लौकिक)
 लेखक द्वारा लिखित अपनी जीवनी- (आत्मकथा)
 लाभ की इच्छा- (लिप्सा)
 लताओं से आच्छादित रमणीय स्थान- (निकुंज)
 लगातार घंटा बजने से होनेवाला शब्द- (टनाटन)
 विधानमंडल द्वारा पारित या स्वीकृत नियम- (अधिनियम)
 वह स्त्री जिसका पति दूसरा विवाह कर ले- (अध्गूढा)
 विद्या की देवी- (सरस्वती)
 वर्षा का अभाव- (अनावृष्टि)
 वह पत्र जिसमें किसी को कुछ करने का अधिकार दिया गया हो- (अधिपत्र)
 वह स्त्री जिसका पति परदेश से लौटा हो- (आगतपतिक)
 वह स्त्री जिसका पति आने वाला है- (आगमिस्यतपतिका)
 वह जो अपने आचार से पवित्र है- (आचारपूत)
 वह बात जो जनसाधरण में चलती आ रही है- (किंवदन्ती)
 वह नायिका जिसका पति रात को किसी अन्य स्त्री के पास रहकर प्रातः उसके पास आता हो- (खंडिता)
 वह नाटक जिसमें गीत अधिक हों- (गीतरूपक)
 वह कपड़ा जिससे कोई चीज झाड़ी जाय- (झाड़न)
 वात, पित्त व कफ- (त्रिदोष)
 वह स्त्री जिसके पति ने त्याग (छोड़) दिया हो- (परित्यक्ता)
 वह शासन प्रणाली जिसमें जन साधारण का शासन हो- (प्रत्युत्पन्नमति)
 वह जिससे प्रेम किया जाय- (प्रेमपात्र)
 वह स्त्री जिसका पति प्रोषित (परदेश गया) हो- (प्रोषितपतिका)
 वह पात्र जिसमें शोभा के लिए फूल लगाकर रखे जाते है- (फूलदान)
 वह स्त्री जिसमें पृथ्वी के स्वरूप का वर्णन हो- (भूगोल)
 वें बातें जो पुस्तक के आरंभ में लिखी जाय- (भूमिका/प्राक्कथन)
 वह स्थिति जब मुद्रा का चलन अधिक हो- (मुद्रास्फीति)
 वह काव्य जिसका अभिनय किया जाय- (रूपक)
 वह शासन प्रणाली जो जनता द्वारा जनता के हित के लिए हो- (लोकतंत्र)
 वसुदेव के पुत्र- (वासुदेव)
 वासुदेव के पिता- (वसुदेव)
 वाडव (सागर) का अनल (आग)- (वाडवानल)
 वेतन पर काम करने वाला- (वैतनिक)
 विष्णु का भक्त या विष्णु संबंधी- (वैष्णव)
 विष्णु का शंख- (पाञ्चजन्य)
 विष्णु का चक्र- (सुदर्शन)
 विष्णु की गदा- (कौमोदकी)
 विष्णु की तलवार- (नन्दक)
 विष्णु की मणि- (कौस्तुभ)
 विष्णु का धनुष- (शांर्ग)
 विष्णु का सारथि- (दारुक)
 विष्णु का छोटा भाई- (गद)
 वह स्थान जहाँ मुर्दे जलाये जाते है- (श्मशान)
 वह पुरुष जिसकी पत्नी साथ है- (सपत्नीक) विष्णु का उपासक या विष्णु से सम्बद्ध- (वैष्ण्व)
 (विदेश में) प्रवास करनेवाला- (प्रवासी)
 वह जिसकी दृष्टि दूर तक जाय- (दूरदर्शी)
 वह जिसकी प्रतिज्ञा दृढ हो- (दृढ़प्रतिज्ञ)
 विधि (कानून ) द्वारा प्रदत्त (प्राप्त)- (विधिप्रदत्त)
 वृष्टि का अभाव- (अनावृष्टि)
 विश्र्वास के योग्य - (विश्र्वसनीय)
 विद्या की चाह रखने वाला- (विद्यार्थी)
 (वह पुरुष) जिसकी पति साथ है- (सपतीक)
 (वह स्त्री) जिसे पति छोड़ दे- (परित्यक्ता)
 वह पहाड़ जिससे आग निकलती हो- (ज्वालामुखी)
 विदेश से वस्तुयें मँगाना- (आयात)
 वृद्धावस्था से घिरा हुआ- (जराक्रान्त)
 वर्षा के जल से पालित- (देवमातृक)
 वर्षा सहित तेज हवा- (झंझावात)
 व्यक्तिगत आजादी- (स्वतंत्रता)
 वीर पुत्रों को जन्म देनेवाली- (वीरप्रसूता)
 वीरों द्वारा भोगी जानेवाली- (वीरभोग्या)
 विमान चलानेवाला- (वैमानिक)
 विनोबा के मत को माननेवाला- (सर्वोदयी)
 वृक्षों को जल से थोड़ा सींचना- (आसेक)
 
 
 
 शीघ्र नष्ट होने वाला- (क्षणभंगुर)
 सब कुछ जानने वाला- (सर्वज्ञ)
 सप्ताह में एक बार होने वाला- (साप्ताहिक)
 साहित्य से सम्बन्ध रखने वाला- (साहित्यिक)
 सत्य बोलने वाला- (सत्यवादी)
 सेवा से सम्बद्ध- (साहित्यिक)
 स्वेद से उत्पत्र होनेवाला- (स्वेदज)
 सरकार द्वारा दूसरे देश की तुलना में अपने देश की मुद्रा का मूल्य कम कर देना- (अवमूल्यन)
 सीमा का उल्लंघन करना- (अतिक्रमण)
 सामाजिक एवं प्रशासनिक अनुशासन की क्रूरता से उत्पत्र स्थिति- (आतंक)
 सर्वप्रथम मत को प्रवर्तित करने वाला- (आदिप्रवर्तक)
 सेतुबंध रामेश्वरम से हिमालय तक- (आसेतुहिमालय)
 सूर्य जिस पर्वत के पीछे निकलता है- (उदयाचल)
 सूर्योदय से पहले का समय- (उषाकाल)
 सारे संसार के देशों की खेल प्रतियोगितायें- (ओलम्पिक)
 सेना में रहने का स्थान- (छावनी)
 सहसा छिपकर आक्रमण करने वाला- (छापामार)
 सिक्के ढालने का कारखाना- (टकसाल)
 स्थल या जल का वह तंग या पतला भाग जो स्थल या जल के दो बड़े खंडों को मिलाता है- (डमरूमध्य)
 सत्व, रज व तम- (त्रिगुण)
 शीतल, मन्द व सुगन्धित वायु- (त्रिविधवायु)
 स्त्री-पुरुष का जोड़ा/पति-पत्नी का जोड़ा- (दम्पती)
 समान रूप से आगे बढ़ने की चेष्टा- (प्रतिस्पर्द्धा)
 शक्ति के अनुसार- (यथाशक्ति)
 स्पष्टीकरण के लिए दिया जाने वाला वक्तव्य- (विवृति)
 सौ वर्ष का समय- (शताब्दी)
 शत्रु का नाश करने वाला- (शत्रुघ्न)
 सौ में सौ- (शतप्रतिशत)
 शयन (सोने) का आगार (कमरा)- (शयनागार)
 शरण में आया हुआ- (शरणागत)
 सदैव रहने वाला- (शाश्वत)
 सिर पर धारण करने योग्य- (शिरोधार्य)
 संगीत के छः राग- (षटराग)
 सोलह वर्ष की लड़की- (षोडशी)
 सड़ी हुई वस्तु की गन्ध- (सराँध)
 सहन करना जिसका स्वभाव है- (सहनशील)
 सबको जीतने वाला- (सर्वजीत)
 सब कुछ खाने वाला- (सर्वभक्षी)
 समान (एक ही) उदर से जन्म लेनेवाला- (सहोदर)
 सब कालों में होनेवाला- (सार्वकालिक)
 सुन्दर हृदय वाला- (सुहृदय)
 स्वतन्त्रता प्राप्ति के बाद का- (स्वातन्त्र्योत्तर)
 सतो गुण का- (सात्त्विक)
 सोलहो कलाओं से युक्त चाँद- (राका)
 श्रद्धा से जल पीना- (आचमन)
 शीघ्रता का अभाव- (अत्वरा)
 सोना, चाँदी पर किया गया रंगीन काम- (मीनाकारी)
 
 ( ह )
 हाथी को हाँकने का लोहे का हुक- (अंकुश)
 हिंसा करने वाला- (हिंसक)
 हित चाहने वाला- (हितैषी)
 हित न चाहनेवाला- (अनहितू)
 हाथ से लिखा हुआ- (हस्तलिखित)
 हमेशा सत्य बोलने वाला- (सत्यवादी)
 हाथ में चक्र धारण करनेवाला- (चक्रपाणि)
 हवा में मिली हुई धूल या भाप के कारण होने वाला अँधेरा- (धुन्ध)
 हाथ का लिखा हुआ- (हस्तलिखित)
 हत्या करनेवाला- (हत्यारा)
 हाथ की लिखी पुस्तक या मसौदा- (पांडुलिपि)
 होठों पर चढ़ीपान की लाली- (अधरज)
 हिन्द की भाषा- (हिन्दी)
 ऋण के रूप में आर्थिक सहायता-(तकावी)
 ज्ञान देनेवाला- (ज्ञातव्य)

No comments: