Saturday, April 17, 2021

spars vyanjan usan vyanjan antasth vyanjan sanyukt vyanjan

1.स्पर्श व्यंजन

इन्हें पाँच वर्गों में रखा गया है और हर वर्ग में पाँच-पाँच व्यंजन हैं। हर वर्ग का नाम पहले वर्ग के अनुसार रखा गया है

जैसे:
क वर्ग- क ख ग घ ड़
च वर्ग- च छ ज झ ञ
ट वर्ग- ट ठ ड ढ ण (ड़ ढ़)
त वर्ग- त थ द ध न
प वर्ग- प फ ब भ म

2'अंतःस्थ व्यंजन

अन्तस्थ निम्न चार हैं - य र ल व

3.ऊष्म व्यंजन

ऊष्म व्यंजन निम्न चार हैं - श ष स ह

📵'सयुंक्त व्यंजन (Mixed Consonants)

वैसे तो जहाँ भी दो अथवा दो से अधिक व्यंजन मिल जाते हैं वे संयुक्त व्यंजन कहलाते हैं, किन्तु देवनागरी लिपि में संयोग के बाद रूप-परिवर्तन हो जाने के कारण इन तीन को गिनाया गया है। ये दो-दो व्यंजनों से मिलकर बने हैं।

जैसे-
क्ष = क्+ष - अक्षर,
ज्ञ = ज्+ञ - ज्ञान,
त्र = त्+र - नक्षत्र
श्र = श्+र - श्रवण

कुछ लोग क्ष, त्र, ज्ञ, श्र को भी हिन्दी वर्णमाला में गिनते हैं, पर ये संयुक्त व्यंजन हैं। अतः इन्हें वर्णमाला में गिनना उचित प्रतीत नहीं होता।

            

No comments: