Monday, April 19, 2021

वर्णों का उच्चारण स्थान Varno ke Uchcharan Sthan

वर्णों का उच्चारण स्थान (Varno ke Uchcharan Sthan) 👇👇

• कण्ठ स्थान :- कंठ्य वर्ण – अ/आ, ‘क’ वर्ग, ह, विसर्ग (अः) इन सभी वर्णों का उच्चारण स्थान कण्ठ होता है |

• तालु स्थान :- तालव्य वर्ण – इ/ई, ‘च’ वर्ग, य, श इन सभी वर्णों का उच्चारण स्थान तालु होता है |

• मूर्धा स्थान :- मूर्धन्य वर्ण – ऋ/ऋ, ‘ट’ वर्ग, र, ष इन सभी वर्णों का उच्चारण स्थान मूर्धा होता है |

• दन्त स्थान :- दंत्य वर्ण – लृ, ‘त’ वर्ग, ल, स इन सभी वर्णों का उच्चारण स्थान दन्त होता है |

• ओष्ठ स्थान :- ओष्ठ्य वर्ण – उ/ऊ, ‘प’ वर्ग, उपद्धमानीय वर्ण इन सभी वर्णों का उच्चारण स्थान ओष्ठ होता है |

• नासिका स्थान :- नासिक्य वर्ण – अनुस्वार (अँ) का उच्चारण स्थान नासिका होता है | या प्रत्येक वर्ग के पंचम वर्ण का उच्चारण स्थान नासिका भी होता है |

• कंठतालु स्थान :- कंठतालव्य वर्ण – ए/ऐ इन दोनों वर्णों का उच्चारण स्थान कंठतालु होता है |

• कंठोष्ठ स्थान :- कंठोष्ठ्य वर्ण – ओ/औ इन दोनों वर्णों का उच्चारण स्थान कंठोष्ठ होता है |

• दन्तोष्ठ स्थान :- दन्तोष्ठ्य वर्ण – ‘व’ वर्ण का उच्चारण स्थान दन्तोष्ठ होता है |

• जिह्वामूल स्थान :- जिह्वामूलीय वर्ण – जिह्वामूलीय वर्णों का उच्चारण स्थान जिह्वामूल होता है |

No comments: