Sunday, April 11, 2021

What is Zero FIR and advantages of Zero FIR पुलिस जीरो FIR दर्ज नहीं करें तो क्या करें

 

जीरो FIR क्या होती है और इसके क्या फायदे होते हैं?

 

 

ZERO FIR क्या है |जीरो FIR कैसे दर्ज करवाया जाता है | जीरो FIR दर्ज करने का क्या फायदा है |पुलिस जीरो FIR दर्ज नहीं करें तो क्या करें |

ZERO FIR क्या है?

जब पुलिस किसी ऐसे अपराध की घटना को दर्ज करती है जो उसके अधिकार क्षेत्र से बाहर है तो इसे जीरो FIR. कहा जाता है । पुलिस ऐसे जीरो एफआईआर को दर्ज करके उसे संबंधित थाना को कार्रवाई के लिए ZERO FIR हस्तांतरित करती है, जिस थाना के अधिकार क्षेत्र में अपराध हुआ है। उदाहरण के लिए यदि आप अपने निवास स्थान से कहीं दूर रह रहे हैं और आपका निवास स्थान पर किसी तरह का कोई अपराध होता है तो आप वहां का नजदीकी पुलिस थाना में जीरो एफ आई आर दर्ज करवा सकते हैं जहां आप रह रहे हैं।

 

 

 

जीरो FIR कैसे दर्ज करवाया जाता हैं

 यदि आप कोई दूसरा राज्य में रह रहे हैं फिर भी वहां जीरो एफ आई आर दर्ज करवा सकते हैं। ऐसा ही आसाराम बापू के केस में भी हुआ था। शिकायतकर्ता का शोषण जोधपुर में हुआ था वह भी कई साल पहले, लेकिन उसने दिल्ली में आकर अपनी जीरो एफ आई आर दर्ज करवाई थी। जिसे जांच के बाद जोधपुर भेज दिया गया था। आप जीरो एफ आई आर पूरे भारत में कोई भी पुलिस स्टेशन में लिखवा सकते हैं।

 

ZERO FIR के फायदे

 जब भी कोई पुलिस अधिकारी जीरो FIR दर्ज करती है तो बिना नंबर का हीं जीरो एफ आई आर दर्ज करती है और उसका सत्यता का जांच करती है।  अगर जीरो एफ आई आर सही पाया जाता है, तो उसे संबंधित पुलिस स्टेशन भेज दिया जाता है । अब चलिए हम लोग जीरो एफआईआर के फायदे के बारे में जान लेते हैं। अगर कोई दोषी व्यक्ति ज्यादा प्रभावशाली है और उसका पुलिस पर दबाव है जिस वजह से पुलिस उसके विरुद्ध एफआईआर दर्ज नहीं करती है, तो आप कोई दूसरा जगह से उस व्यक्ति पर जीरो एफआईआर दर्ज करवा सकते हैं। यदि कोई दूसरा व्यक्ति के साथ कुछ अपराध हुआ है तो भी आप जीरो एफआईआर दर्ज करवा सकते हैं।

 

पुलिस जीरो FIR दर्ज नहीं करें तो क्या करें |

अब चलिए हम लोग बात कर लेते है यदि कोई पुलिस अधिकारी जीरो एफआईआर दर्ज करने से मना कर दे तो आपके पास कौन कौन सा कानूनी अधिकार है। एक साधारण एफ आई आर दर्ज करने में यदि पुलिस अधिकारी मना करता है तो आपको जो स्टेप लेना चाहिए वही स्टेप यहां भी लेना होगा। इससे पहले मैंने एक पोस्ट में इस बात का चर्चा कर चुका हूं , जिसमें आपको बताया था कि यदि पुलिस अधिकारी एफआईआर लिखने से मना करें तो आपके पास कौन-कौन से कानूनी अधिकार है।

No comments: